बिना अनुरोध किए वेरिफ़िकेशन कोड मिलना

जब कोई आपके फ़ोन नंबर से WhatsApp अकाउंट रजिस्टर करने की कोशिश करेगा, तो आपके अकाउंट की सुरक्षा के लिए, WhatsApp आपको पुश नोटिफ़िकेशन भेजेगा. अपना अकाउंट सुरक्षित रखने के लिए अपना वेरिफ़िकेशन कोड किसी से भी शेयर न करें.
यह नोटिफ़िकेशन मिलने का मलतब है कि किसी ने आपका फ़ोन नंबर देकर रजिस्ट्रेशन के लिए अनुरोध किया है. ऐसा अक्सर होता है कि यूज़र गलती से अपने फ़ोन नंबर की जगह किसी और का फ़ोन नंबर टाइप कर देते हैं, लेकिन ऐसा तब भी हो सकता है जब कोई आपका अकाउंट ऐक्सेस करने की कोशिश कर रहा हो.
आपको अपना WhatsApp वेरिफ़िकेशन कोड कभी भी किसी से भी शेयर नहीं करना चाहिए. अगर कोई आपका अकाउंट ऐक्सेस करना चाहता है, तो उन्हें ऐसा करने के लिए आपके फ़ोन नंबर पर भेजे गए SMS वेरिफ़िकेशन कोड की ज़रूरत होगी. इस कोड के बिना, आपका नंबर वेरिफ़ाई करने की कोशिश करने वाला कोई भी यूज़र न तो वेरिफ़िकेशन प्रोसेस पूरी कर सकता है और न ही WhatsApp पर आपका फ़ोन नंबर इस्तेमाल कर सकता है. इससे आपका अकाउंट पूरी तरह से आपके कंट्रोल में रहता है.
ध्यान दें
  • WhatsApp के पास आपका WhatsApp अकाउंट वेरिफ़ाई करने की कोशिश करने वाले व्यक्ति की पहचान करने के लिए पर्याप्त जानकारी नहीं होती है.
  • WhatsApp एंड टू एंड एन्क्रिप्टेड है सभी मैसेजेस सिर्फ़ आपके फ़ोन पर ही स्टोर होते हैं, अगर कोई आपका अकाउंट दूसरे फ़ोन पर ऐक्सेस करता है तो वह आपकी पिछली बातचीत नहीं पढ़ सकता है.
रीसोर्स
  • अगर आप अपना WhatsApp अकाउंट ऐक्सेस नहीं कर पा रहे हैं या आपको लगता है कि कोई और आपके अकाउंट का इस्तेमाल कर रहा है, तो यह लेख पढ़ें.
  • अगर आपका फ़ोन खो गया है या चोरी हो गया है, तो यह लेख पढ़ें.
  • आप टू-स्टेप वेरिफ़िकेशन ऑन करके अपने अकाउंट की सुरक्षा को बढ़ा सकते हैं. टू-स्टेप वेरिफ़िकेशन के बारे में अधिक जानने के लिए यह लेख पढ़ें.
  • अकाउंट की सुरक्षा के बारे में अधिक जानने के लिए यह लेख पढ़ें.
क्या इससे आपको अपने सवाल का जवाब मिला?
हाँ
नहीं