WhatsApp की बिज़नेस और कॉमर्स पॉलिसी का पालन कैसे करें

WhatsApp Business प्लेटफ़ॉर्म से जुड़ी मदद पाने के लिए हमारी लाइब्रेरी पर जाएँ.
हम चाहते हैं कि बिज़नेसेज़ WhatsApp Business पर अपने कस्टमर्स को मैसेज भेजने के सभी फ़ायदों का लुत्फ़ उठाएँ. इसमें WhatsApp Business प्लेटफ़ॉर्म और WhatsApp Business ऐप शामिल हैं. अगर आप चाहते हैं कि आपकी बातचीत सुरक्षित रहे और उसकी क्वालिटी भी बेहतर बनी रहे, तो सभी बिज़नेसेज़ और Business सॉल्यूशन प्रोवाइडर्स के लिए WhatsApp की बिज़नेस और कॉमर्स पॉलिसी को समझना ज़रूरी है.
ये दोनों पॉलिसी WhatsApp Business पर लागू होती हैं. बिज़नेस पॉलिसी यह तय करती है कि WhatsApp Business से जुड़े प्रोडक्ट्स का सही इस्तेमाल कैसे करना है और कस्टमर्स को बेहतर अनुभव कैसे देना है. इससे हमें यह पता चलता है कि प्लेटफ़ॉर्म पर किस बिज़नेस मॉडल और कैटेगरी को अनुमति देनी है. कॉमर्स पॉलिसी यह तय करती है कि बिज़नेसेज़ अपने कैटेलॉग, मैसेज थ्रेड, बिज़नेस प्रोफ़ाइल और मैसेज टेंप्लेट के ज़रिए अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ बेच सकते हैं या नहीं.
हमारा सुझाव है कि WhatsApp Business इस्तेमाल करने वाले यूज़र्स WhatsApp की बिज़नेस और कॉमर्स पॉलिसी ध्यान से पढ़ें. हम समझते हैं कि पॉलिसी के कुछ हिस्सों के बारे में आपके कई सवाल हो सकते हैं, जैसे कि हम पॉलिसी को कैसे लागू करते हैं या कुछ खास बिज़नेसेज़ पर इनका क्या असर पड़ता है.
WhatsApp की बिज़नेस और कॉमर्स पॉलिसी का पालन ऐसे करें
कॉमर्स पॉलिसी में जिन प्रोडक्ट्स या सर्विसेज़ पर बैन लगाया गया है, बिज़नेसेज़ उन्हें बेचने से पहले या बाद में कस्टमर्स से बातचीत करने के लिए ही WhatsApp Business का इस्तेमाल कर सकते हैं.
WhatsApp Business पर बिक्री से जुड़ी जिन गतिविधियों की अनुमति नहीं है उनके कुछ उदाहरण:
  • बैन किए गए प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ का अपनी बिज़नेस प्रोफ़ाइल पर प्रचार करना
  • बैन किए गए प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ बेचने के लिए WhatsApp Business प्लेटफ़ॉर्म पर टेंप्लेट्स बनाना और भेजना
  • बैन किए गए प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ को WhatsApp पर बेचना या उसके लेनदेन में शामिल होना, जैसे कि चैट पर ऑर्डर करना, खरीदारी शुरू करने के लिए पेमेंट पाना, ऑर्डर अपडेट करना या रसीद शेयर करना
कॉमर्स पॉलिसी के तहत बैन किए गए प्रोडक्ट्स या सर्विसेज़ बेचने वाले बिज़नेसेज़ और उनके कस्टमर्स के बीच किस तरह की बातचीत की जा सकती है और किस तरह की नहीं, इसके कुछ उदाहरण नीचे बताए गए हैं.
इस तरह की बातचीत की जा सकती है
  • जागरूकता: किसी प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में ज़्यादा जानकारी शेयर करना या कस्टमर्स के सवालों का जवाब देना
  • जागरूकता/ध्यान रखना/ख्याल रखना: चैट पर कस्टमर्स के साथ कूपन या ऑफ़र शेयर करना
  • ध्यान रखना: प्रोडक्ट या सर्विस खरीदने में दिलचस्पी रखने वाले कस्टमर्स के साथ वेबसाइट का लिंक या फ़ोन नंबर शेयर करना
इस तरह की बातचीत नहीं की जा सकती
  • खरीदारी: कस्टमर्स द्वारा खरीदारी के लिए WhatsApp चैट पर प्रोडक्ट्स या सर्विसेज़ चुनने पर बिज़नेस का WhatsApp पर पेमेंट की जानकारी इकट्ठा करना
  • खरीदारी: बैन किए गए प्रोडक्ट या सर्विस को बेचने के बाद रसीद के लिए नोटिफ़िकेशन भेजना
WhatsApp पर प्रोडक्ट्स या सर्विसेज़ की बिक्री में लेनदेन की ये लिमिट, कॉमर्स पॉलिसी में बैन की गई कैटेगरीज़ पर ही लागू होती हैं. कॉमर्स पॉलिसी के तहत जिन प्रोडक्ट्स या सर्विसेज़ को बेचने की अनुमति है उन्हें WhatsApp Business पर बेचा जा सकता है. जैसे कि, टी-शर्ट बैन किए गए आइटम में शामिल नहीं हैं, इसलिए कस्टमर WhatsApp Business प्लेटफ़ॉर्म या ऐप का इस्तेमाल करके इसे खरीद सकते हैं.
कस्टमर्स के साथ बातचीत करना
हमारी बिज़नेस पॉलिसी के अनुसार, बिज़नेसेज़ WhatsApp पर किसी से तब ही संपर्क कर सकते हैं, जब:
  • कस्टमर ने बिज़नेस को अपना फ़ोन नंबर दिया हो
  • कस्टमर इस बात पर सहमत हो कि बिज़नेस WhatsApp पर उनसे संपर्क कर सकते हैं
लोगों को भ्रमित करना, धोखा देना, धोखाधड़ी करना, गुमराह करना, स्पैम करना या बिज़नेस से जुड़ी बातचीत के ज़रिए लोगों को हैरान करना, हमारी बिज़नेस पॉलिसी का उल्लंघन है. इसके अलावा बिज़नेसेज़, पेमेंट कार्ड का पूरा नंबर, बैंक का अकाउंट नंबर, ID कार्ड नंबर या पहचान बताने वाली कोई अन्य संवेदनशील जानकारी न ही शेयर कर सकते हैं और न ही कस्टमर्स से शेयर करने के लिए कह सकते हैं.
कस्टमर्स से चैट करने के लिए बिज़नेस को उनसे अनुमति लेनी होगी, ताकि बिज़नेस उन्हें WhatsApp Business पर 24 घंटे के बाद भी मैसेज भेज सकें.
ध्यान दें: अगर यूज़र सवाल पूछने या ज़्यादा जानकारी पाने के लिए किसी बिज़नेस से संपर्क करते हैं, तो यह अनुमति देना नहीं माना जाएगा. बिज़नेस को यूज़र से WhatsApp चैट करने के लिए अभी भी उनकी अनुमति लेनी होगी. अनुमति देने और इससे जुड़े सबसे सही तरीकों के बारे में ज़्यादा जानने के लिए बिज़नेस पॉलिसी पढ़ें.
कॉमर्स पॉलिसी की खास कैटेगरीज़ के बारे में जानें
कॉमर्स पॉलिसी की कुछ कैटेगरीज़ को समझना थोड़ा मुश्किल है. कॉमर्स पॉलिसी की इन खास कैटेगरीज़ का उल्लंघन करने से बचने के लिए ये तरीके अपनाएँ.
नशीली दवाएँ, चाहे वे डॉक्टरी सलाह पर, शौक के लिए या किसी अन्य वजह के लिए हों
हम उन बिज़नेसेज़ को अनुमति नहीं देते जो सीधे तौर पर नशीली दवाएँ बेचते और उनसे जुड़े लेनदेन करते हैं. डॉक्टरी सलाह पर और बिना पर्चे के मिलने वाली दवाओं, दोनों पर यह बैन लागू होता है. भले ही, इन दवाओं को लोकल या ग्लोबल स्तर पर अनुमति मिली हो. फ़ार्मास्यूटिकल कंपनियाँ, WhatsApp पर नशीली दवाएँ, इलाज के उपकरण और कॉमर्स पॉलिसी के तहत बैन किए अन्य सामान नहीं बेच सकतीं और न ही उनका प्रचार कर सकती हैं. ये बिज़नेसेज़, WhatsApp Business की मदद से कस्टमर केयर से जुड़े ऐसे मैसेजेस भी नहीं भेज सकते, जो मेडिकल सर्विसेज़ के एडमिनिस्ट्रेशन से संबंधित नहीं हैं. उदाहरण के लिए, डॉक्टर या अन्य मेडिकल सर्विसेज़ द्वारा सलाह शेयर की जा सकती है, लेकिन WhatsApp प्लेटफ़ॉर्म पर डॉक्टरी सलाह सीधे तौर पर बेची नहीं जा सकती.
फ़ार्मेसी कंपनियाँ जिनके पास अलग से क्लिनिकल लैब या मरीज़ों की देखभाल की सुविधा हो, वे इन सर्विसेज़ को WhatsApp Business पर रजिस्टर कर सकती हैं. ऐसा करने के लिए उन्हें इन ज़रूरी शर्तों को पूरा करना होगा:
  • WhatsApp Business अकाउंट के नाम से पता चलता है कि यह बिज़नेस मेडिकल सर्विस देता है. उदाहरण के लिए, "क्लिनिक", "लैब", "टेस्टिंग", या "वैक्सीन".
  • बिज़नेस की वेबसाइट से यह पता चलता है कि वे वैक्सिनेशन और/या मेडिकल टेस्ट की सुविधा देते हैं
मेडिकल सर्विसेज़ देने वाली फ़ार्मेसी कंपनियों को अन्य मेडिकल सर्विसेज़, जैसे कि डॉक्टर के ऑफ़िस और अस्पतालों की तरह ही कस्टमर्स के साथ बातचीत करने की अनुमति है. इसमें ऐसी फ़ार्मेसी कंपनियाँ और मेडिकल सर्विसेज़ भी शामिल हैं जो सीधे तौर पर बिक्री (डायरेक्ट सेल) नहीं करतीं.
मेडिकल सर्विसेज़ से जुड़ी इन एक्टिविटीज़ को अनुमति है:
  • वैक्सीन पाने के लिए किसी को पर्सनलाइज़ अपडेट भेजना
  • टेस्टिंग और वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन के लिए अपॉइंटमेंट शेड्यूल करना
  • टेस्टिंग और वैक्सीन से जुड़े सवालों के जवाब देना
  • बिज़नेस की मेडिकल सर्विसेज़ के बारे में पूछे जाने वाले सवालों के जवाब देने के लिए चैटबॉट बनाना. इसमें COVID-19 और वैक्सीन की जानकारी भी शामिल है.
  • मेडिकल सर्विस पाने के बाद सर्वे और अपॉइंटमेंट से जुड़े फॉलो-अप भेजना
खाने योग्य असुरक्षित सप्लीमेंट
सप्लीमेंट्स को कॉमर्स पॉलिसी के तहत बैन किया गया है. इन्हें कैटेलॉग, शॉप, मैसेज थ्रेड्स, बिज़नेस प्रोफ़ाइल और/या मैसेज टेंप्लेट के ज़रिए बेचने की अनुमति नहीं है.
बैन किए गए सप्लीलेंट्स के कुछ उदाहरण:
  • एनाबॉलिक स्टेरॉइड्स
  • चिटोसैन
  • कॉम्फ़्रे
  • डिहाइड्रोपिएंड्रोस्टेरोन
  • इफ़ेड्रा
  • मानव विकास में सहायक हॉर्मोन
  • प्रोटीन बार और प्रोटीन पाउडर
  • विटामिन
डिजिटल सर्विसेज़
WhatsApp पर मोबाइल रिचार्ज, केबल टीवी के पैकेज और इंटरनेट पैक जैसी सर्विसेज़ बेची जा सकती हैं.
वे डिजिटल सर्विसेज़ WhatsApp का इस्तेमाल नहीं कर सकतीं जिनका प्राइमरी बिज़नेस, सब्सक्रिप्शन देना, डाउनलोड होने वाला कंटेंट उपलब्ध कराना या डिजिटल कंटेंट लाइब्रेरी का ऐक्सेस देना है. हम कुछ बिज़नेसेज़ को बिज़नेस से जुड़ी बातचीत करने के लिए सीमित रूप से WhatsApp Business प्लेटफ़ॉर्म इस्तेमाल करने की अनुमति दे सकते हैं. ऐसा करना, हर बिज़नेस के मामले के हिसाब से अलग हो सकता है.
बैन की गई डिजिटल सर्विसेज़ के कुछ उदाहरण:
  • स्ट्रीम की जा सकने वाली सर्विसेज़ की सब्सक्रिप्शन देना
  • क्लाउड स्टोरेज
  • VPN सर्विसेज़
  • गेम से जुड़ी करेंसी
  • कोड डाउनलोड करना
  • ई-बुक
  • ऑडियोबुक
असली, वर्चुअल या नकली करेंसी
असली पैसे का मतलब नकदी या नकदी की तरह इस्तेमाल होने वाली चीज़ें हैं, जिनकी कीमत दुनिया भर में असली पैसे की तरह है.
बैन की गई असली करेंसी के कुछ उदाहरण:
  • अमेरिकी डॉलर
  • चेक
  • प्रीपेड डेबिट कार्ड
  • गिफ़्ट कार्ड
वर्चुअल करेंसी निजी संस्थाओं द्वारा जारी की जाती हैं. कुछ खास समुदायों को छोड़कर, इनकी कीमत दुनिया भर में असली पैसे की तरह नहीं है.
बैन की गई वर्चुअल करेंसी के कुछ उदाहरण:
  • गेम से जुड़ी करेंसी
  • क्रिप्टोकरेंसी
फ़ेक करेंसी का मतलब है नकली या धोखाधड़ी वाली करेंसी या अन्य फ़ाइनेंशियल चीज़ें
शराब
अगर बिज़नेसेज़ का प्राइमरी बिज़नेस मॉडल शराब बेचना है, तो वे इन प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए WhatsApp प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल नहीं कर सकते. इसमें अलग-अलग तरह की शराब और शराब बनाने वाली किट बेचना शामिल है.
अगर कोई बिज़नेस ऐसे सामान या शराब से संबंधित चीज़ें, जैसे कि जैसे गिलास, वाइन कूलर, वाइन की बोतल के होल्डर और शराब के बारे में जानकारी देने वाली किताबें या डीवीडी बेचते हैं, तो वे सिर्फ़ मैसेजिंग के लिए WhatsApp प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं. ये मैसेज शराब बेचने से संबंधित नहीं होने चाहिए. बिज़नेसेज़ अपने प्रोडक्ट कैटलॉग में शराब को शामिल नहीं कर सकते.
हथियार
अगर बिज़नेसेज़ का प्राइमरी बिज़नेस मॉडल हथियार, गोला-बारूद या विस्फोटक बेचना है, तो वे इन प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए WhatsApp प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल नहीं कर सकते.
प्रतिबंधित हथियारों के कुछ उदाहरण:
  • बंदूकें और बंदूकों के पुर्जे
  • पेंटबॉल गन
  • बीबी गन
  • पटाखे
  • पेपर स्प्रे
  • टेज़र्स
  • बंदूक की रेंज
  • गन शो
अगर हथियारों की बिक्री करना बिज़नेस मॉडल का एक अलग हिस्सा है या फिर बिज़नेस, वैध हथियारों के लिए सुरक्षा ट्रेनिंग या लाइसेंस का प्रचार करता है, तो वह मैसेजिंग के लिए WhatsApp प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं. ये मैसेज हथियारों की बिक्री से संबंधित नहीं होने चाहिए. बिज़नेसेज़ अपने प्रोडक्ट कैटेलॉग में हथियार, गोला-बारूद और विस्फोटक शामिल नहीं कर सकते.
कानून का पालन करना या न करना, पूरी तरह से बिज़नेस पर निर्भर करता है. WhatsApp Business पर बेचने या प्रचार करने के लिए किन प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ पर बैन लगाया गया है, इसकी अप-टू-डेट लिस्ट के लिए कॉमर्स पॉलिसी देखें.
अगर कोई कस्टमर ऐसी कैटेगरी का प्रोडक्ट या सर्विस खरीदने के बारे में बातचीत करता है जिसे कॉमर्स पॉलिसी के तहत बैन किया गया है, तो कृपया कस्टमर से कहें कि वे इस कैटेगरी से जुड़े प्रोडक्ट के बारे में बातचीत करने के लिए किसी ऐसे चैनल का इस्तेमाल करें जहाँ इस पर बैन नहीं लगा है.
संबंधित रीसोर्स
जानें कि WhatsApp Business प्लेटफ़ॉर्म पर पॉलिसी कैसे लागू की जाती है
क्या यह जानकारी उपयोगी थी?
हाँ
नहीं