WhatsApp का सही तरीके से इस्तेमाल कैसे करें


WhatsApp इसलिए बनाया गया था, ताकि आप आसान, सुरक्षित और भरोसेमंद तरीके से अपने दोस्तों और परिवारजनों को मैसेज भेज सकें. WhatsApp पर आपके मैसेजेस पूरी तरह प्राइवेट रहते हैं. हमने अपनी सेवा की शर्तें अपने प्लेटफ़ॉर्म और हमारे यूज़र्स को पूरी तरह सुरक्षित रखने के लिए तैयार की हैं. WhatsApp का सही तरीके से इस्तेमाल करने के लिए ज़रूरी है कि सभी यूज़र्स नीचे बताई गई गाइडलाइन पढ़ें.
सबसे सही तरीके
  • जिन कॉन्टैक्ट्स को जानते हैं सिर्फ़ उन्हीं से बातचीत करें: सिर्फ़ उन्हीं कॉन्टैक्ट्स को मैसेज भेजें जिन्होंने आपसे संपर्क किया हो या जिन्होंने WhatssApp पर संपर्क करने के लिए आपको अनुरोध भेजा हो. सबसे अच्छा तो यह है कि आप अपने कॉन्टैक्ट्स को पहले ही अपना फ़ोन नंबर दे दें, ताकि वे आपको मैसेज भेज सकें.
  • कॉन्टैक्ट्स से अनुमति लें और उनके फ़ैसले का सम्मान करें: अपने कॉन्टैक्ट्स को किसी भी ग्रुप में शामिल करने से पहले आपको उनकी अनुमति लेनी चाहिए. अगर आप किसी को ग्रुप में शामिल करते हैं लेकिन वे उस ग्रुप को छोड़ देते हैं, तो उनके फ़ैसले का सम्मान करें.
  • ग्रुप कंट्रोल फ़ीचर इस्तेमाल करें: हमने WhatsApp ग्रुप्स के लिए एक ऐसी सेटिंग तैयार की है जिससे सिर्फ़ एडमिन ही ग्रुप में मैसेज भेज सकते हैं. अगर आप किसी ग्रुप के एडमिन हैं, तो आप ग्रुप की सेटिंग्स में जाकर चुन सकते हैं कि ग्रुप में सभी सदस्य मैसेज भेज सकते हैं या सिर्फ़ ग्रुप के एडमिन. इस फ़ीचर का इस्तेमाल करके ग्रुप में भेजे जाने वाले अनचाहे मैसेजेस कम किए जा सकते हैं. जानें कि Android, iPhone, KaiOS या वेब और डेस्कटॉप पर ग्रुप एडमिन से जुड़ी सेटिंग्स कैसे बदलते हैं.
  • सोच-समझकर ही मैसेज फ़ॉरवर्ड करें:फ़ॉरवर्ड किए गए मैसेजेस के लिए हमने एक लेबल बनाया है और मैसेज फ़ॉरवर्ड करने की लिमिट सेट की है, ताकि मैसेज शेयर करने से पहले यूज़र्स यह सोचें कि उन्हें मैसेज शेयर करना चाहिए या नहीं. अगर आपको लगता है कि किसी मैसेज में भेजी गई जानकारी सही नहीं है या आप नहीं जानते कि मैसेज किसने लिखा है, तो हमारा सुझाव है कि ऐसा मैसेज फ़ॉरवर्ड न करें. गलत जानकारी को फ़ैलने से कैसे रोका जा सकता है, इस बारे में जानने के लिए यह लेख पढ़ें.
क्या न करें
नीचे बताए गए किसी भी तरीके से WhatsApp इस्तेमाल करने पर आपका अकाउंट बैन किया जा सकता है.
  • अनचाहे मैसेजेस: अगर कोई कॉन्टैक्ट आपसे कहता है कि आप उन्हें मैसेज न करें, तो आपको उन्हें अपनी एड्रेस बुक से हटा देना चाहिए और दोबारा उनसे संपर्क नहीं करना चाहिए.
  • ऑटोमेटेड या बल्क मैसेजेस: WhatsApp से ऑटोमेटेड या बल्क मैसेज न भेजें या ऑटो-डायल न करें. WhatsApp, मशीन लर्निंग टेक्नोलॉजी और अपने यूज़र्स से मिली रिपोर्ट की मदद से ऐसे अकाउंट का पता लगाकर उन्हें बैन करता है जो अनचाहे ऑटोमेटेड मैसेजेस भेजते हैं. अनधिकृत (अनऑथोराइज़्ड) या ऑटोमेटेड तरीके से अकाउंट या ग्रुप न बनाएँ और न ही WhatsApp की नकल करके बनाए गए किसी ऐप का इस्तेमाल करें. WhatsApp, ऑटोमेटेड या बल्क मैसेजेस का गलत इस्तेमाल होने से कैसे रोकता है, इस बारे में जानने के लिए व्हाइट पेपर पढ़ें.
  • किसी और की कॉन्टैक्ट लिस्ट का इस्तेमाल न करें: WhatsApp पर किसी यूज़र को मैसेज भेजने या ग्रुप में शामिल करने के लिए, बिना अनुमति किसी का फ़ोन नंबर शेयर न करें और न ही अवैध स्रोतों से मिले डेटा का इस्तेमाल करें.
  • ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल न करें: ब्रॉडकास्ट लिस्ट का इस्तेमाल करके भेजे गए मैसेजेस यूज़र्स को तब तक नहीं मिलेंगे, जब तक कि वे आपका फ़ोन नंबर अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में जोड़ नहीं लेते. ध्यान रखें कि अगर आप ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो यूज़र्स आपके भेजे गए मैसेजेस की रिपोर्ट कर सकते हैं. किसी अकाउंट की बार-बार रिपोर्ट किए जाने पर हम उसे बैन कर देते हैं.
  • किसी की निजी जानकारी इक्ट्ठा न करें: जिन कामों के लिए WhatsApp इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं है, उनके लिए ऑटोमैटिक या मैन्युअल टूल इस्तेमाल करके बड़े पैमाने पर जानकारी इक्ट्ठा न करें. इस तरह WhatsApp यूज़र्स के फ़ोन नंबर्स, प्रोफ़ाइल फ़ोटो और स्टेटस वगैरह की जानकारी इकट्ठा करने पर हमारी सेवा की शर्तों का उल्लंघन होता है.
  • हमारी सेवा की शर्तों का उल्लंघन न करें: हम आपको याद दिलाना चाहते हैं कि हमारी सेवा की शर्तें, अन्य अनुचित बातों के साथ ही गलत और झूठी जानकारी प्रकाशित करने, गैर-कानूनी तरीके इस्तेमाल करने, धमकी देने, डराने, नफ़रत फैलाने, नस्लीय या जातीय तौर पर अपमानजनक व्यवहार करने पर रोक लगाती है. आप हमारी सेवा की शर्तें यहाँ जाकर पढ़ सकते हैं.
संबंधित रीसोर्स:
क्या इससे आपको अपने सवाल का जवाब मिला?
हाँ
नहीं